वेबसाईट का निर्माण, प्रबंधन व विकास, भाग-2; Website creation, management and development, part-2

वेबसाईट का निर्माण, प्रबंधन व विकास, भाग-2 (please browse down or click here to view this post in English)

सभी मित्रों को भारतीय गणतंत्र दिवस की बहुत-बहुत हार्दिक शुभकामनाएं

होमपेज बनाने के बाद हम जो भी पेज बनाते हैं, वे होमपेज के साथ जोड़े जा सकते हैं, अन्यथा वे स्वतन्त्र पेज के रूप में विद्यमान रहते हैं। वेबसाईट के डिजाइन आदि का सारा निर्माण कस्टमाईज बटन से ही होता है। उस कस्टमाईजर पर एक थीम बटन भी होता है, जिससे हम थीम (बेसिक आऊटले) का चुनाव कर सकते हैं। वेबसाईट के निःशुल्क प्लान में बहुत साधारण मुफ्त के थीम मिलते हैं, जिन पर अक्षरों की चमक व बनावट भी साधारण दर्जे की होती है। सशुल्क प्लान में सबसे सस्ता पर्सनल प्लान होता है, जिसकी थीम कुछ बढ़िया होती है, फिर भी अक्षरों को अधिक बनावट नहीं दे सकते, और न ही वेबसाईट चमक-दमक वाली लगती है। प्रीमियम प्लान में ये कमियाँ नहीं होतीं। उसका शुल्क भी अधिक होता है। वर्डप्रेस कम्पनी में इसका सालाना शुल्क लगभग 4000 रुपए होता है। पर्सनल प्लान का मूल्य 2400 रुपए होता है। प्रीमियम प्लान में सीएसएस कोड का प्रयोग किया जा सकता है, हेडर इमेज व साईडबार आदि की चीजों को भी एडजस्ट किया जा सकता है। सीएसएस कोड कंपनी की कस्टमर केयर सर्विस से प्राप्त किए जा सकते हैं। बिजनेस प्लान में कुछ अधिक नहीं, केवल अधिक बढ़िया बिजनेस थीम मिलती हैं, उसमें विभिन्न प्लगइन (जो छोटे-मोटे काम करते हैं) भी इंस्टाल किए जा सकते हैं, तथा उस पर विज्ञापन भी डाले जा सकते हैं। विज्ञापन तो प्रीमियम प्लान पर भी डाले जा सकते हैं। यद्यपि पैसे कमाने बहुत कठिन हैं उससे। लगभग 280 रुपए प्राप्त करने के लिए लगभग 10000 वियू चाहिए। यदि कोई मशहूर वेबसाईट आपकी किसी पोस्ट को लिंक कर ले, तब तो बल्ले ही बल्ले। इसलिए अच्छी पोस्टें लिखें। इसमें वेबपेज के बेस पर फूटर क्रेडिट (वर्डप्रेस का) भी नहीं होता, पर उससे विशेष फर्क नहीं पड़ता। बिजनेस प्लान बहुत महँगा होता है, लगभग 8000 रुपए प्रतिवर्ष। प्रीमियम व बिजनेस प्लान में पेमेंट बटन भी बनाया जा सकता है, जिससे हम कुछ भी ऑनलाईन बेचकर पेमेंट रिसीव कर सकते हैं। निःशुल्क प्लान में कस्टम डोमेन भी नहीं मिलता। उदाहरण के लिए मेरी वेबसाईट का कस्टम (स्वयं चुना गया) डोमेन demystifyingkundalini.com है। परन्तु जब यह निःशुल्क प्लान में थी, तब इसका डोमेन demystifyingkundalini.wordpress.com था। यदि एक साल वेबसाईट को सब्सक्राईब करके अगले साल पेमेंट न की जाए, तो केवल अतिरिक्त सुविधाएं ही हटेंगी संभवतः, free प्लान वाली सुविधाएं तो हमेशा के लिए रहेंगी। कस्टमाईज को दबाकर निम्नलिखित बटन आते हैं- साईट आईडेंटीटी (इससे वेबसाईट की पहली मुख्य व शीर्ष पंक्ति लिखी जाती है, जो पूरी वेबसाईट का संक्षिप्त व प्रभावशाली विवरण दे), फोंटस (इससे अक्षरों के प्रकार / बनावट को चुना जाता है), कलर्स एंड बेकग्राऊंड (इससे पेज के बेकग्राऊंड का स्टाईल व कलर चुना जाता है), हेडर इमेज (इससे उस मुख्य इमेज को चुना जाता है, जो प्रत्येक वेबपेज पर स्वयं लगी रहती है), मीनू (इस पर पेज व सबपेज को नाम दिए जाते हैं, और सबपेज बनाए जाते हैं), सीएसएस (जिस पर कुछ व्यक्तिगत व इच्छानुसार संरचना के लिए कोड लिखे जाते हैं), विजेट (वेबसाईट के विभिन्न अवयवों जैसे कोपीराईट, डिस्क्लेमर, लिंक, ब्लॉग स्टेट, फोलो ब्लॉग, फोलो अस आदि यहाँ से चुने व बनाए जाते हैं)। ये साईडबार में भी व फुटबार में भी, चुनाव के अनुसार जोड़े जा सकते हैं, होमपेज सेटिंग (यहाँ पूर्वोक्तानुसार होमपेज को ही स्टेटिक बनाया जाता है, लेटेस्ट पोस्ट वाले पेज को नहीं)। सभी पेज यहाँ पर एड किए जा सकते हैं, अन्यथा वेबपेज होमपेज से पृथक ही रहेगा। सबसे मुख्य व प्रथम पेज को ही यहाँ होमपेज बनाया जाता है, अन्य पेज तो उसके बाद उसमें जुड़े होते हैं, जिन्हें विषयानुसार हम कुछ भी नाम दे सकते हैं। वास्तव में एक वेबपेज 1500 शब्दों से अधिक नहीं होना चाहिए, तभी वह इंटरनेट के कम सिग्नल पर भी जल्दी खुल जाता है। यदि होम पेज या अन्य कोई भी वेबपेज बड़ा हो, तो उसे सबपेजों में डिवाईड किया जा सकता है, और नाम ऐसे लिखे जा सकते हैं, जैसे होम 1 (पेज का विषय), होम 2 (—-) आदि-2। वेबसाईट के मूल डोमेन यूआरएल / एड्रेस (जैसे कि demystifyingkundalini.com को सर्च इंजन में डालकर होमपेज ही खुलता है। ये ही मुख्य बटन होते हैं।

सभी सशुल्क प्लानों में कस्टमर केयर की अच्छी सुविधा होती है, जिसमें चेटिंग व ईमेल के माध्यम से सभी कुछ पूछा गया विस्तार व स्पष्टता से समझाया जाता है। यहाँ पर वर्डप्रेस नामक वेबसाईट प्लेटफोर्म का विवरण दिया जा रहा है। यह उपरोक्त कस्टमाईज बटन, w बटन को दबाकर आता है। अन्य बटन जो उस लाईन में होते हैं, वे निम्नलिखित हैं- स्टेटस- वेबसाईट के विसिटर, वियूस, लाईक्स, कमेंट्स आदि की पल-पल की जानकारी देता है; एक्टिविटी- जब भी वेबसाईट पर जो भी काम किया गया होता है, उसकी समस्त जानकारी देता है; प्लान- वेबसाईट के चल रहे प्लान व अन्य प्लानों की जानकारी देता है, रिन्यूवल ऑप्शन की जानकारी होती है, व सम्बंधित प्लान पर क्या-क्या किया जा सकता है, वह सब जानकारी वहां होती है। अगली पोस्ट में जारी———

 

Website creation, management and development, part-2

Any page we create after creating the homepage can be added to the homepage, otherwise that remain in the form of free page. All the designs of the website are made from customize button. There is a theme button on that customizer so that we can choose the theme (Basic Outley). The free plan of the website offers a lot of free themes, on which the brightness and texture of the letters are also of normal quality. The paid plan is the cheapest personal plan, whose theme is good, still can not make the text more textured, nor does the website look like glitter. There are no shortcomings in the premium plan. That’s fees are also high. The wordpress company has an annual fee of about Rs 4000 for premium plan. The value of the personal plan is Rs. 2400. The CSS code can be used in the premium plan, through which the header image and sidebar etc. can also be adjusted. CSS codes can be obtained from the company’s Customer Care Service. There is nothing more in business plans, only more great business themes are available, in which various plugins (which work in different minor ways) can be installed and ads can also be placed on it. Advertisements can also be placed on the premium plan. Although money is difficult to earn from website directly. To get around 280 rupees, we need around 10,000 views. If a famous website links to any of your posts, then it’s too good. So write good posts. It does not even have a footer credit (wordpress) on the webpage’s base, but it does not make any difference to it. Business plan is very expensive, around 8000 rupees per year. A payment button can also be made in the premium and business plan, so that we can receive payment by selling anything online. There is no custom domain even in the free plan. For example, the custom (self-chosen) domain of my website is demystifyingkundalini.com. But when it was in the free plan, its domain was demystifyingkundalini.wordpress.com. If one year is subscribed to the website but not paid for next year, then only the extra features will be deleted Probably, facilities of free plans will remain forever. On pressing the Customize button there comes the following buttons: – Site Identity (This is written as the first, main and top line of the website, giving brief and effective details of the entire website); fonts (by this, type of text / texture is selected); Colors End Background (the style and color of the page’s background are selected); header image (this selects the main image that is displayed on each webpage itself); menus (On this pages and subpages are given names, and subpages are created); CSS (code written for some personal and customized structure); Widgets (various content of the website such as copyright, disclaimer, link, blog State, follow blog, follow us etc. are selected and created from here). These can also be added in the Sidebar and Footbar, as per the selection; homepage setting (Here the homepage is made as static, not the latest post page). All pages can be edited here, otherwise the webpage will remain separate from the homepage. The main page and the first page are created here, the other pages are then added to it, which we can name anything by subject. In fact, a webpage should not be more than 1500 words, only then it opens on the Internet with less signals also much quickly. If the home page or any other webpage is large, it can be devided in the subpages, and the names can be written such as Home 1 (the topic of the page), Home 2 (—-) etc. The homepage is opened by entering the website’s original domain URL / address (such as demystifyingkundalini.com in the search engine). These are the main buttons.

All the paid plans have good customer care, in which all queries asked through chatting and email are explained in detail and clarity. Here’s a description of the website platform named WordPress. This above told customize button pops on pressing the w button. The other buttons that are in that line are the following: Stats – gives the information of the visitors of the website, views, likes, comments etc.; Activity – gives information about any work done on the website whenever it has been done; Plan- Provides information about the ongoing plans and running plan of the website, information about the renewal option, and all the information about what can be done on the respective plan. Continuing in next post ———

Published by

demystifyingkundalini by Premyogi vajra- प्रेमयोगी वज्र-कृत कुण्डलिनी-रहस्योद्घाटन

I am as natural as air and water. I take in hand whatever is there to work hard and make a merry. I am fond of Yoga, Tantra, Music and Cinema. मैं हवा और पानी की तरह प्राकृतिक हूं। मैं कड़ी मेहनत करने और रंगरलियाँ मनाने के लिए जो कुछ भी काम देखता हूँ, उसे हाथ में ले लेता हूं। मुझे योग, तंत्र, संगीत और सिनेमा का शौक है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s